मैं कौन हूँ - Emotional Poem || Hindi Writings


Main kon hoon - Emotional Poem by sahin mirza


Lyrics in English-


Main kaun hoon
Main vo hoon jo apane vajood kee talaash karatee hai.
Main vo hoon jo sannate mein khud kee aavaaz dhundti hai.
Main vo hoon jo khud se hee hajaaron savaal poochti hai.
Main vo hoon jo doosare ke dard mein khud ko dukhee mahasoos karatee hai.
Main vo hoon jo apanee khushee se pahale dusron ko khush dekhana chaahatee hoon. Main vo hoon jo naee chaahat kee ummeed liye baithee hoon.
Main vo hoon jo apanee chaahat ka gala dbaye dusron ko khush karane lagee hoon. Main vo hoon jo jinda hokar bhee jindagee kee talaash mein hoon.


Lyrics in Hindi-


मैं कौन हूँ
 मैं वो हूँ जो अपनी वज़ूद की तलाश करती है,
मैं वो हूँ जो सन्नाटे में खुद की आवाज़ ढूंढती है,
मैं वो हूँ जो खुद से ही हजारों सवाल पूछती है,
मैं वो हूँ जो दूसरे के दर्द में खुद को दुखी महसूस करती है,
मैं वो हूँ जो अपनी खुशी से पहले दूसरो को खुश देखना चाहती हूँ,
 मैं वो हूँ जो नई चाहत की उम्मीद लिए बैठी हूँ,
मैं वो हूँ जो अपनी चाहत का गला दबाये दुसरो को खुश करने लगी हूँ,
मैं वो हूँ जो जिंदा होकर भी जिंदगी की तलाश में हूँ।


निवेदन:- अगर आपको यह "कविता" लगी हो तो इसे शेयर करें और अपने अनुभव हमें Comment करके जरूर बताएं। आपका सुझाव अमूल्य है।


यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे  E-mail करें. हमारी Id है: hindiwritings@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

No comments

लड़कियां महफूज क्यूँ नहीं - शम्भूनाथ | HindiWritings.com

लड़कियां महफूज क्यूँ नहीं - शम्भूनाथ | HindiWritings.com घर घर में जहाँ पूजा हो ||  पूजी जाती हो मुर्तिया ||   उस देश में मु...

Powered by Blogger.