हिंदी कविता "आसमां"

November 06, 2017
आसमां अभी तो तूने  पंख भर ही फैलाएं है, अभी तो आसमां से मुलाकात करना बाकी है। अभी तो जुनून ने हिम्मत कर कदम बढ़ाएं है, अभी तो ...

गुम होता बचपन

November 02, 2017
बचपन की यादें बच्चे कभी बदलते नहीं , ना ही उनकी सोच।कोई ज़माना , कोई युग बच्चों को बदल ही नहीं सकता। आज जब मैं अपने बच्चों को देखती ह...

Hindi Poem - फ़कीर

November 01, 2017
फ़कीर अपनी बदनसीबी की राह पर,   बेचारा आँसूओं के घूट पीकर चलता है, मटमैले कपड़ो को पहन पर भी वो, खुद को सबसे खुशनसीब समझता है, जि...

Story - मोबाइल और इंसान || Hindi writings

November 01, 2017
   ये घटना सत्य है जिन्हें रोचक तथ्यों के साथ प्रदर्शित किया गया है। अगर किसी के साथ ये घटना घटित हुयी हो तो ये मात्र संयोग नहीं होगा क्य...

नज़्म- उलझन

November 01, 2017
हम उनसे उलझे हैं ऐसे, जैसे आपस में उलझी हुई हो लट कई, ख्वाहिश यूँ है के बन के कंगा, उनकी ज़ुल्फ़ों से गुज़र जाऊं, खुद को चुभु मगर, उनको स...

लड़कियां महफूज क्यूँ नहीं - शम्भूनाथ | HindiWritings.com

लड़कियां महफूज क्यूँ नहीं - शम्भूनाथ | HindiWritings.com घर घर में जहाँ पूजा हो ||  पूजी जाती हो मुर्तिया ||   उस देश में मु...

Powered by Blogger.