दगाबाज || Dagabaj - HindiWritings.com

January 04, 2018
दगा बाज तूने दाग लगाया ॥ मै दाग छुपाये घूम रही हूँ ॥ गली गली तुम्हे ढूढ़ रही हूँ ॥ २ सोलह थी साल मेरी उम्र थी ॥ ...

लड़कियां महफूज क्यूँ नहीं - शम्भूनाथ | HindiWritings.com

लड़कियां महफूज क्यूँ नहीं - शम्भूनाथ | HindiWritings.com घर घर में जहाँ पूजा हो ||  पूजी जाती हो मुर्तिया ||   उस देश में मु...

Powered by Blogger.