अरमान यही पर पड़े रहे

कुछ पल के लिए ओ आये थे
अब हमें छोड़ कर चले गये ॥
अरमान यही पर पड़े रहे ॥ २.
वादे पूरे कर न पाये ॥
न संग निभाये साथ ॥
मुझे अकेले छोड़ यहाँ पर ॥
कर गये मुझसे घात ॥
यादो में अब जलती रहूँगी ॥
सपने यही पर धरे रहे ॥
अब हमें छोड़ कर चले गये ॥
अरमान यही पर पड़े रहे ॥ २.
कुछ पल की खुशियाँ आयी थी ॥
अब क्यों हमसे दूर हुयी ॥
खड़ी तमाशा देख रही थी ॥
मौत से मै मजबूर हुयी ॥
ले चलो संग में मुझको भी ॥
क्यूँ जंजीर में जड़े रहे ॥
अब हमें छोड़ कर चले गये ॥
अरमान यही पर पड़े रहे ॥ २.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *