बर्दाश्त कर रहा हूँ ॥ 

दर्दे दिल जवानी बर्दाश्त ॥
कर रहा हूँ ॥
याद कर रहा हूँ तुमको ॥
याद कर रहा हूँ ॥
आके तुम्हारे पास मै ॥ 
फ़रियाद कर रहा हूँ ॥
रुख से नकाब हटा के ॥
जादू चला के यौवन का ॥
सपनो में आती हो ॥
सोते समय में तुमसे ही ॥
बात कर रहा हूँ ॥
याद कर रहा हूँ तुमको ॥
याद कर रहा हूँ ॥
जब से तुम्हे हूँ देखा ॥
दीवाना बन गया हूँ ॥
आँखों में तुम्ही बसी हो ॥
मै भी सज गया हूँ ॥
बन के सरीफ फिर भी ॥
खुराफात कर रहा हूँ ॥
याद कर रहा हूँ तुमको ॥
याद कर रहा हूँ ॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *